इंग्लिश वाली मैडम की चुदाई

"If you'd like to submit a paid guest post or sponsor a post on our website, please contact us at

4.1/5 - (7 votes)

है  दोस्तों में राजस्थान से हु मेरा नाम हरीश है,

Build Your Dream Website Join Now
अपनी वेबसाइट बनाए Join Now

में इंजिनियर हु, मेरा फेस चिकना हे में ज्यादा मासूम सा दीखता था कुछ दिन कॉलेज में ऐसे ही गुजर गये, फिर हमे कम्युनिकेशन सब्जेक्ट पढाने एक मामा आई उनका नाम अंजलि था

वो थोड़ी मोती थी, में हिंदी मध्यम  का स्टूडेंट था इस लिए इंग्लिश मेरा वीक था. जब  मेम पढाती  तो मेरी और उनकी आखे चार हो जाती थी वो भी मुझे देखती और में भी उन्हें देखता वो शायद मुझे इंटेलीजेंट समजती हती,

जब एग्जाम हुआ तो में उनके सब्जेक्ट में फ़ैल हो गया और मैथ में टॉप किया मैंने, जो मेरी मैथ की टीचर थी वो उनकी फ्रेंड थी, रिजल्ट आने के बाद मेम ने मुझे केबिन में बुलाया.

में-  में आई कम इन मेम.

अंजलि मेम- एस कम इन, तुमसे ये एक्स्पेक्ट नही किया था मैंने, मैंने ये भी सुना है की तुम मैथ्स तोपेर हो बाकि सब्जेक्ट्स में भी मार्क्स अच्छे है तुम्हारे.

में- एस मेम.

मेम- तो मेरे सब्जेक्ट में क्या हुआ तुम्हे, मेरा पद्य हुआ कुछ समाज न आ रहा हो या कुछ भी प्रॉब्लम है तो बताओ लेकिन में चाहती हु मैथ्स की तरह मेरे सब्जेक्ट में तुम ही टॉप करो.

में- मेम कोशिश करूँगा की ऐसा हो.

मेम- कोशिस नहीं मुझे फाइनल में रिजल्ट चाहिए.

में- मेम मेरी इंग्लिश कमजोर है और मुझे ये सब्जेक्ट को टाइम देने की जरुरत है.

मेम- लंच में फ्री होती हु आ जाया करो मेरे पास अगर तुम नही आये तो.

इंटरनल बेक पक्की तुम्हारी.

में- जरुर आऊंगा मेम.

कुछ टाइम में उनके पास जाता रहा जब वो मुझे कुछ बता रही थी तो उनके पलु गिरे हुए थे

मेरी नजर बार बार उधर ही जा रही थी. मेमे ने मुझे ये सब देखते हुए देख लिया, मुझे लगा मेम से डांट खाऊंगा और मेरी इंटरनल बेक पक्की  लेकिन जो उनका रिप्लाई था उस से में चोक गया.

मेम- ये सब बाद में पहले तुम्हारी पड़ी है, फिर कुछ दिनों तक हम ऐसे ही पड़ते रहे फाइनल से एक दिन पहले में रोल नो लेने गया रोल नो उनके पास ही था.

जल्दी आ गये सब अपना रोल नंबर ले जा चुके है एक तुम ही जिसका रोल नंबर मेरे पास है.

में- सॉरी मेम.

फिर मे केबिन में गया और रोल नंबर ले रहा था तो मेम बोली.

मेम- में कॉलेज छोड़ रही हु.

में- क्या मे मेम, प्लीज नही चोदना.

मेम- यहाँ कोन्दितिओन्स कलश हो रही है.

में- मेम मेरा क्या होगा आपके बिना इस कॉलेज में चार साल रहना मुस्किल हो है.

मेम- क्यों लेकिन मुझ में ऐसा क्या है.

में- बिकॉज़ आई लव यू.

मैंने कह तो दिया था लेकिन ये अज्जेब था मुझसे सहन्न्ही हो रहा था की मेम कॉलेज चुद रही है.

मेम- ऐसा कैसे में मैरिड हु.

में- तो मैरिड से प्यार नही हो सकता.

अब कुछ देर की ख़ामोशी छा गयी फिर जैसे ही मेम ने रोल नंबर मुझे दिया.

मैंने उनका हाथ पकड़ लिया और मेरी आँखों से अनसु बहाने लगे मेम मेरे कर्रेब आई और मुझे समझने लगी लेकिन मेरे आंसू जैसे रुकने का नाम ही नही ले रही थी, फिर मेम ने मुझे गले से लगा लिया था

फिर मेम ने कुछ न सोचते हुए मुझे किस किया.  किस कर के हम किसी भी उदास इंसान को नार्मल कर सकते है उसके बाद जो हमारे जिस्मो के ऊपर तूफान उठा वो सब कुछ होने के बाद ही ठंडा हुआ,

फिर मेम को गरम करने के लिए मैंने तुरंत मेम के गले पर किस करने लगा में किस कर रहा था  और मेम बोल रही थी

मेम- ये सब गलत होगा बेटा, में शादी शुदा हु.

उनकी बातो को इगनोरे करते हुए गरम कर रहा था क्योंकि मुझे पता था एक बार मेम गरम हुई तो बिना चुदे मुझे नही छोड़ेंगी . में मेम की गर्दन को किस कर रहा था और मेरे हाथ मेम के पेट पर बड़े आराम से घूम रहे थे

मेम ने भी बोलना बंद कर दिया था फिर मैंने मेम का टॉप उतरा बिलकुल सफ़ेद रंग था और ऊपर से वाइट ब्रा में केद मेम के बूब्स क्या बताऊ यारो बस में ही उस वक़्त अपनी कंडीशन को समाज सकता हु  इतने में मेरे लंड ने अपने औकात पे आना सुरु कर दिया.

मैंने वक़्त की नजकात को समझा और मेम की ब्रा उतर दी अब मैंने मेम के बूब्स की बड़े मज़े से चूसने लगा और दबाया फिर फिर मेम को निचे बैठा के अपना कला सा मोटा लम्बा लंड निकला और मेम के बूब्स के बिच में रगड़ रहा था फिर मेम ने मेरे लंड को मुह में ले के चूसने लगी में बोला में झड जाऊंगा फिर भी

मेम चुसे जा रही थी उनको कोई फरक नही पद रहा था फिर में झड गया, ऐसा कर के मेम ने अपने लिए दिक्कत कड़ी की थी क्यूँ की दुसरे बार में अपने मन का मालिक होता हु जब चाहुंगा तब झादुंगा.

अब मैंने मेम की जीन्स उतारी और पूरी नंगी कर दिया और पेंटी  भी उतर दी,

फिर मैंने मेम को टेबल पर झुकाया और लंड को चूत पर सेट किया और जोर का झटका मारा और लंड आधे से भी ज्यादा अन्दर चला गया मेम की चीख निकल गयी आह्ह्ह  आह्ह्हह्ह,.. मर गयी आराम से सकता क्या.

फिर मेम की आवाजे वही गूंजती रही और में तब तक धक्का मरता रहा जब तक की में थक के चूर न हो जाता फिर में थक चूका था और मेरा लंड पानी भी चो दिया था  फिर हम अपने अपने कपडे पहन कर बहार जा रहे थे

तो वह मैथ की टीचर आ रही थी उनको देख कर मेरी तो फट गयी पर मुझे तो कुछ होने वाला नही था पर मेम के बदनामी हो जाती.

Leave a comment