कॉलेज के प्रोफेसर से अपनी चूत मारवाकर मजा आ गया । Sex story

"If you'd like to submit a paid guest post or sponsor a post on our website, please contact us at

4.7/5 - (9 votes)

College ke professor se apni chut marwakar maja aa gya sex story : मेरा नाम सुमन है मैं 18 वर्ष की हूं, मेरा स्कूल इसी वर्ष कंप्लीट हुआ है और मैंने कॉलेज में दाखिला ले लिया है। मैंने दिल्ली के एक कॉलेज में दाखिला ले लिया और मैं दिल्ली की रहने वाली हूं।

Build Your Dream Website Join Now
अपनी वेबसाइट बनाए Join Now

मेरे स्कूल में भी अच्छे नंबर आए थे और मैं अच्छे मार्क्स से पास हुई। मेरे पिताजी बैंक में काम करते हैं और मेरी मां भी बैंक में ही है। मैं घर में इकलौती हूं और मेरे घर पर मेरी देखभाल के लिए मेरे माता-पिता ने एक महिला को रखा है

क्योंकि वह दोनों सुबह जल्दी चले जाते हैं इसलिए मुझे खाने की बहुत दिक्कत होती थी तो वह महिला ही मेरे लिए खाना बनाती है। मैं अपने माता पिता से सिर्फ छुट्टी के दिन ही मिल पाती हूं और हमारी उस दिन हीं अच्छे से बात हो पाती है। मुझे जो भी कहना होता है मैं उसी दिन उन्हें कहती हूं।

जब मैं स्कूल से पास आउट हो गई तो उसके बाद मेरे पिताजी ने मुझे कहा कि तुम आगे क्या करना चाहती हो, मैंने अपने पिताजी से कहा कि मैं फिलहाल कॉलेज करना चाहती हूं और उसके आगे मैंने अभी सोचा नहीं है।

मेरे पिताजी एक बहुत ही अच्छे और सुलझे हुए इंसान हैं। मेरी मां भी बहुत ही सुलझी और समझदार है। उन दोनों की मुलाकात बैंक में ही हुई थी क्योंकि मेरी मां भी उसी बैंक में काम करती है जिस बैंक में मेरे पिताजी काम करते है इसीलिए उन दोनों का रिलेशन आगे बढ़ पाया और उन दोनों ने शादी कर ली।

तरु को अपना लंड चटाया । hindi sex story । sex kahani । xxx story

उन्होंने मुझे कभी भी किसी प्रकार की कोई कमी नहीं होने दी और हमेशा ही मुझे बहुत प्यार दिया है लेकिन उनके पास समय की कमी होती है इस वजह से वह लोग मुझे सिर्फ छुट्टी के दिन ही समय दे पाते है।

मैंने जिस कॉलेज में दाखिला लिया उसमें मै जब पहले दिन गई तो मुझे बहुत ही अजीब सा लग रहा था क्योंकि मैं कॉलेज में पहले दिन आई थी और मेरा कोई भी परिचित नहीं था इसी वजह से मुझे बहुत ही अकेलापन लग रहा था। मैं जब अपनी क्लास में जाने वाली थी तो उससे पहले ही कुछ लड़के और लड़कियां साथ में बैठे हुए थे।

उन्होंने मुझे रोकते हुए पूछा कि तुम कौन से ईयर की स्टूडेंट हो, मैंने उन्हें बताया कि मेरा न्यू ऐडमिशन है और मैं अपनी क्लास देख रही हूं। वह मुझे कहने लगे कि तुम अपना नाम बताओ, मैंने उन्हें अपना नाम बताया।

उसके बाद वह लोग मुझे बहुत परेशान करने लगे। मैं अंदर से बहुत डर गई थी लेकिन तभी उसी वक्त एक व्यक्ति ने उन लोगों से कहा कि तुम लोग यहां पर क्या कर रहे हो, वह लोग तुरंत ही वहां से चले गए और उसके बाद वह मेरे साथ बहुत अच्छी बात करने लगे। वह मुझसे पूछने लगे क्या तुम नहीं आई हो,

अंजली भाभी की मस्त गांड और मेरा लंड । hindi sex stories

मैंने उन्हें कहा कि हां मैंने इसी वर्ष यहां पर दाखिला लिया है। मुझे नहीं पता था कि वह कॉलेज के प्रोफेसर है क्योंकि वह बहुत ही जवान और हैंडसम थे, मुझे लगा शायद वह कॉलेज के कोई सीनियर स्टूडेंट होंगे।

मैंने उनसे पूछा कि आप कौन सी क्लास में है, वह कहने लगे कि मैं यहां पर पढाता हूं। मुझे बिल्कुल भी यकीन नहीं हुआ। और फिर मैं अपनी क्लास में चली गई। वह मेरे कॉलेज का पहला दिन था। मेरा पहला दिन भी कट चुका था। मैं अब घर जाने की तैयारी में थी, मैं जब घर जा रही थी उस वक्त मुझे प्रमोद सर दिखे।

वह मुझे कहने लगे कि यदि तुम्हें कोई भी परेशान करे तो तुम मुझसे कह देना। मैंने उन्हें कहा ठीक है यदि मुझे किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत होगी तो मैं आपको जरूर बता दूंगी। वह बहुत ही कॉपरेटिव और अच्छे इंसान हैं।

चाचा की लड़की को चोदकर प्रेग्नेंट कर दिया । hindi sex stories

उसके बाद मुझे कॉलेज में जाते हुए काफी समय हो चुका था और मेरे पिताजी भी मुझसे पूछने लगे कि तुम्हारे कॉलेज की पढ़ाई कैसी चल रही हैज़ मैंने उन्हें कहा कि मेरे कॉलेज की पढ़ाई अच्छी चल रही है और मैं अपनी पढ़ाई पर पूरा ध्यान दे रही हूं। वह लोग भी खुश हो गए और कहने लगे कि तुम अपनी पढ़ाई पर पूरा ध्यान दो।

उन लोगों ने मुझ पर कभी भी कोई दबाव नहीं डाला क्योंकि वह दोनों जो कुछ भी कर रहे हैं, वह सब मेरे लिए ही कर रहे हैं। उन्होंने मुझे कभी भी किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होने दी।

मैंने जब भी उनसे कोई चीज मांगी उन्होंने तुरंत ही मुझे वह चीज लेकर दे दी। मैं एक दिन अपने कॉलेज जा रही थी तो मैं ऑटो से ही अपने कॉलेज गयी। जब मैं ऑटो से उतरी तो मैंने देखा प्रमोद सर भी उसी वक्त कॉलेज आ रहे हैं।

फेसबुक फ्रेंड की चुदाई । sex stories in hindi । xxx story

उन्होंने भी मुझे देख लिया था और हम दोनों ही बात करते हुए कॉलेज के अंदर चले गए। वह मुझसे पूछने लगे कि तुम्हें किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत तो नहीं है, मैंने उन्हें कहा कि नहीं मुझे कोई भी दिक्कत नहीं है।

मैं अपनी पढ़ाई में पूरा ध्यान दे पा रही हूं और जब भी प्रमोद सर हमारे क्लास में पढ़ाने के लिए आ जाए तो मुझे बहुत अच्छा लगता था और मैं सिर्फ उन्हें ही देखी जाती थी। शायद प्रमोद सर मेरा पहला क्रश है, इससे पहले मैंने कभी भी किसी लड़के की तरफ नहीं की और ना ही कभी भी किसी लड़के के बारे में मेरे दिल में ऐसी फीलिंग आई।

मुझे कभी भी कोई परेशानी होती तो मैं सर के केबिन में उनसे पूछने के लिए चली जाती थी और वह मुझे हमेशा ही अच्छे से सब कुछ बता दिया करते थे।

मै एक दिन प्रमोद सर के केबिन में गई हुई थी और उनसे कुछ पूछ रही थी लेकिन उस दिन वह बहुत ज्यादा हैंडसम लग रहे थे इसलिए मुझे उन्हें देखकर बिल्कुल भी रहा नहीं गया और मैंने उनके होठों को किस करना शुरू कर दिया। वह मुझे कहने लगे कि तुम यह क्या कर रही हो लेकिन

मैंने उनके होठों को किस करना जारी रखा और बहुत अच्छे से मैं उनके होठों को किस करती जा रही थी। उनसे भी बिल्कुल नहीं रहा गया और उन्होंने मुझे कहा कि तुम मेरे कैबिन का दरवाजा बंद कर दो।

जब मैंने उनके दरवाजे को बंद किया तो उन्होंने अपने लंड को बाहर निकाल लिया और उनका लंड 9 इंच का था। मैंने उसे अपने मुंह में समा लिया और बहुत अच्छे से उनके लंड को मैं अपने मुंह में ले रही थी।

मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था जब मैं उनके लंड को अपने मुंह में ले रही थी काफी देर ऐसा करने के बाद उन्होंने मुझे वही जमीन पर लेटा दिया और मेरे सारे कपड़े खोल दिए। उन्होंने जब मेरे स्तनों को अपने मुंह में लिया तो मेरे अंदर से उत्तेजना बाहर आने लगी और मुझे बहुत अच्छा लगने लगा।

अब उन्होंने मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया काफी देर तक उन्होंने मेरी योनि का रसपान किया। उसके बाद जैसे ही उन्होंने अपने लंड को मेरी योनि के अंदर डाला तो मैं बहुत खुश हो गई और मुझे बहुत दर्द होने लगा लेकिन उस दर्द में भी एक अलग ही तरीके का मजा था।

मेरी चूत से ब्लीडिंग होने लगी थी और मुझे बहुत अच्छा भी महसूस हो रहा था। अब हम दोनों  के शरीर से एक अलग ही तरीके की गर्मी निकल रही थी और मैं तो बिल्कुल भी उस गर्मी को बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी लेकिन प्रमोद सर मुझे बड़ी तेजी से चोदे जा रहे थे। वह जिस प्रकार से मुझे चोद रहे थे मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।

मैं उनका पूरा साथ दे रही थी और मैंने अपने दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया था। उन्होंने मुझे काफी देर तक ऐसे ही चोदा लेकिन अब उन्होंने मुझे घोडी बना दिया और घोड़ी बनाते ही जैसे हि उन्होंने मेरी योनि में अपना लंड घुसाया तो मुझे बहुत तेज दर्द होने लगा लेकिन मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। मेरी योनि से खून निकल रहा था

मैं भी अपनी चतडो को उनसे मिलाए जा रही थी। मरी चूतडे जब उनके लंड से मिलती तो मुझे ऐसा लगता जैसे मेरा शरीर गर्म हो चुका था मुझे बहुत अच्छा महसूस होने लगा जिस प्रकार से वह मुझे चोद रहे थे।

मुझे बहुत मजा आ रहा था लेकिन मझसे उनके लंड की गर्मी बिल्कुल बर्दाश्त नहीं हो रही थी और जैसे ही मेरी योनि की माल गिरा तो मुझे बहुत गर्म महसूस हुआ और काफी अच्छा भी लगा। उन्होंने जब अपने लंड को मेरी योनि से बाहर निकाला तो मैंने उसे अपने मुंह में ले लिया और बहुत अच्छे सकिंग करने लगी।

मैंने उनके लंड को  अच्छे से चूसा जिससे कि उनका  माल मेरे मुंह में ही गिर गया और मैंने वह सब अपने अंदर ले लिया। उसके बाद से हम दोनों के बीच में कई बार सेक्स संबंध बन चुके हैं।

1 thought on “कॉलेज के प्रोफेसर से अपनी चूत मारवाकर मजा आ गया । Sex story”

Leave a comment