गाँव में कैंप लगाकर देसी लड़की की मस्त चुदाई

"If you'd like to submit a paid guest post or sponsor a post on our website, please contact us at

3.7/5 - (6 votes)

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मुझे उम्मीद है आप सभी लोग मस्त ही होगे और चुदाई का भरपूर मज़ा ले रहे होगे | दोस्तों मैं आज एक अपनी कहानी को लेकर आप लोगो की सेवा में हाजिर हूँ |

Build Your Dream Website Join Now
अपनी वेबसाइट बनाए Join Now

मैं अपनी कहानी शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देता हूँ | मेरा नाम अनमोल है | मेरी उम्र 28 साल है | मैं रहने वाला गोवा का हूँ और मैं अभी मेडिकल कॉलेज में पढता हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 4 इंच है |

मेरे लंड का साईट 6 इंच है और मोटा 3 इंच है | मैं दिखने में गोरा हूँ और मैं अपनी बॉडी को भी फिट रखता हूँ जिससे में स्मार्ट भी लगता हूँ | मैं अपने मम्मी पापा की इकलौती संतान हूँ और पढाईके वजह से हॉस्टल में रहता हूँ |

मेरी एक गर्लफ्रेंड भी है जिसका नाम पूजा है और वो मेरे साथ ही पढाई करती है | वो दिखने में गोरी है और उसका फिगर सेक्सी है | वो न ही ज्यादा मोटी है और न ही ज्यादा पतली मैं आप लोगो को सीधे बता देता हूँ

की वो दिखने में सुन्दर है | अब मैं अपनी कहानी आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ | मुझे उम्मीद है की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और इस कहानी को पढने में मज़ा भी आएगा |

ये कहानी 6 महीने पहले की है जब मैं डॉक्टरी की पढाई कर रहा था | मैं और मेरी गर्लफ्रेंड एक साथ में ही पढाई कर रहे थे | पूजा मेरा बहुत ध्यान रखती थी | मैं पूजा को कभी – कभी किस भी करता था और मैंने उसके साथ कई बार सेक्स करने की कोशिश की है पर वो सेक्स करने के लिए तैयार नही होती थी और उसका मानना था

की ये सब वो शादी के बाद करेगी | पर मेरा मन नही मनाता था इसलिए मैं उसको एक दिन अपने हॉस्टल में ले जाने के कोशिश की तब वो बोली की मैं वहां बॉयज हॉस्टल में जाके क्या करूँगी |

मैंने उससे कहा की कुछ नही अगर तुम्हारा मन नही है तो मत चलो मैं अभी जाके आता हूँ जब मैं जाने लगा तो उसने मेरे होठो पर एक किस की और बोली जल्दी आना डिनर के लिए चलाना है | तब मैं अपने रूम में जाकर वापस आया और हम दोनो लोग डिनर के लिए गए |

Gaanv me camp lagakar Desi ladki ki mast chudai

उसके दुसरे दिन की बात है जब मेरे कॉलेज से एक ग्रुप को गाँव में कैंप लगने के लिए भेजा जा रहा था | तब उस ग्रुप में मैं और पूजा भी थे और फिर सभी लोग अपनी अपनी तैयारी करने लगे जाने के लिए |

मैंने भी अपनी तैयारी की फिर हम सब 6 लोग थे और फिर कॉलेज की गाड़ी से हम सभी लोग वहां के लिए निकल पड़े | मैं और पूजा पीछे सीट पे बैठ कर बात कर रहे थे | तभी पूजा की सेहली पूजा से बोली की इससे अच्छा मौका तुम दोनों को नही मिलने वाला है पूजा एन्जॉय करो तब पूजा बोली यहाँ एन्जॉय करने नही आयें हैं

जिस काम के लिए भेजा गया है वो काम करो चल कर हम लोग यहीं सब बाते करते हुए कुछ ही घंटो में पहुच गए | हम लोगो को यहाँ पर 7 दिन रूक कर गाँव वालो का इलाज करना था और वो गाँव जंगल के पास में था | वहां पर अच्छा भी लग रहा था और फिर हम सब लोगो ने वहां पर अपने रहने के लिए कैंप लगया |

वो गाँव जंगल में था इसीलिए वहां आस पास में कोई भी हॉस्पिटल नही था और हम लोगो को वहां भेजने की यहीं वजह थी | फिर उस गाँव के लोग इलाज के लिए आने लगे तब हम सब लोग उनका इलाज करने लगे उस गाँव में बहुत ज्यदा लोग ही बीमार थे | इस तरह से हमे उस गाँव में एक दिन हो गया था और वो गाँव के लोग बहुत अच्छे थे |

New Sex Story : दुश्मनी में लड़की को पटा कर बदले के लिए चोद दिया

वो लोग हम सबको अपने घर पर डिनर के लिए बुलाया था और हम सब लोग वहां डिनर के लिए गए | मैं खाना खा ही रहा था की मुझे उस घर में एक लड़की दिखी वो दिखने में बहुत ही सुन्दर थी और उसका फिगर तो ज्यादा ही मस्त था | उसके बड़े बूब्स और उसकी चौड़ी गांड थी उसको देख कर मेरे होश ही उड़ गए थे |

वो मेरी गर्लफ्रेंड से भी ज्यादा सेक्सी थी | फिर उस लड़की के पापा बताने लगे की ये मेरी बेटी है इसका नाम सोनम है और ये शहर से पढ़ कर आई है | अब ये इसके आगे डॉक्टर की पढाई करना चाहती है क्यूंकि मेरे गाँव में कोई हॉस्पिटल नही है न ही कोई डॉक्टर है जिससे गाँव वालो को बहुत परेशानी होती है |

इसलिए ये डॉक्टर बनाना चाहती है | मैं बोला तब तो सोनम को हम लोगो के साथ यहाँ हमारे कैंप में रहना चाहिए और वहां पर देखो चल कर की कैसे हम लोग पेशेंट को देखते हैं कुछ जान ही जाओगी |

तब वो बोली हाँ मैंने भी यहीं सोच रही हूँ और वो दिन में हमारे साथ रहती थी | इस तरह से हम सब लोगो को उस गाँव में 3 दिन हो गए थे और उस गाँव में अभी भी कुछ लोग थे जो ज्यादा ही बीमार थे |

हम सब लोग उन लोगो का इलाज करते रहे और इस तरह से हम लोगो को उस गाँव में 5 दिन हो गए | मैं भी उस लड़की को पसंद करता था और वो भी मुझे पसंद करती थी | मैं उससे कुछ न कुछ पूछा करता था

तब उसने मुझसे कहा की आप मुझे अच्छे लगते हो आप की कोई गर्लफ्रेंड है | तब मैंने उससे कह दिया हाँ है पर मेरी उससे कोई बात नही होती है तो वो बोली आप मुझसे दोस्ती करोगे तब मैंने भी कह दिया हाँ और इस तरह से वो मेरे ज्यादा ही करीब आ गयी थी |

Also Read : अर्पिता को घोड़ी बना दिया

फिर एक दिन की बात है जब उसने मुझसे पूछा तुमने सेक्स किया है तो मैंने उसे बताया नही | तब वो बोली झूठ मत बोलो तब मैंने कहा सचमें क्यूंकि मेरी गर्लफ्रेंड सेक्स नही करने देती है इसलिए में उससे बात नही करता हूँ और मैंने उस दिन उसे किस भी किया और उसके बूब्स भी दबाये | जब मैंने उसकी होठो को पर किस कर रहा था

तो मुझे एहसास हुए की इसकी होठो बहुत पतली और रसीली हैं | उस दिन मैंने उसको पुरे 5 मिनट तक किस की थी और मेरे लंड खड़ा हो गया था | उस दिन मैंने उसके नाम से मुठ भी मारी थी और अपने लंड का सारा माल निकाल दिया था | फिर मैंने उसे रात उसे को मिलने के लिए बुलाया तो वो आ गयी |

मैं उसके साथ कुछ देर तक बैठ कर बात की और मैं उसकी जांघों पर हाथ रख कर सहलाने लगा | तब वो कुछ देर तक कुछ नही बोली फिर उसने अपने होठो को मेरे होठो पर रख कर मेरे होठो को चूसने लगी |

मैं भी उसकी होठो को चूसने लगा और साथ में उसके बूब्स को दबाने लगा | मैं उसको ऐसे ही 5 मिनट तक किस करता रहा फिर उसके कपडे निकाल दिए और वो मेरे सामने पूरी तरह से बिना कपड़े के आ गयी क्यकि

उसने ब्रा और पेंटी नही पेहनी थी | मैं उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा और दुसरे वाले को हाथ में पकड कर दबाने लगा | जब मैं उसके दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था तो उसके बूब्स बहुत ही चिकने और गोल थे |

मैं उसके चिकने दूधो को मुंह में रख कर जोर जोर से चूसने लगा और हाथ की उँगलियों से उसके निप्पल को घुमा घुमा कर मसल रहा था | मैं उसके दूधो को ऐसे ही 5 -7 मिनट तक चूसता रहा और उसके बाद

मैं उसकी टांगो को फैला कर उसकी चूत में अपने मुंह के घुसा कर चाटने लगा | तब उसके मुंह से मदहोश करने वाली आवाज निकल गयी उई उई उई.. हा हा हा… ऊऊऊ आआआ हू हु हु हु…. उई मई उई मई उई मई… की आवाजे निकलने लगी |

ये आवाजे सुनकर मैं उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा जिससे उसके जिस्म में आग सी लग गयी और वो चुदने के लिए मचलने लगी | फिर मैंने अपने कपडे निकाल कर

अपने लंड के टोपे पर थूक लगा कर उसकी चूत के मुंह पर लंड को रख कर उसकी चूत में एक जोरदार धक्का मारा उसकी चूत गीली थी जिससे उसकी चूत में मेरा आधा लंड एक ही धक्के में घुस गया और वो चीख पड़ी |

तब मैंने उसकी होठो पर अपने होठो को रख दिया जिससे उसकी चीख उसके मुंह में ही रह गयी और फिर उसकी चूत में जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | मैं उसको जोर जोर के धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए चोदने लगा तो उसकी आँखों में पानी आ गया और फिर कुछ ही देर में उसे मज़ा आने लगा

तो उई उई उई हाँ हाँ हाँ… हह्ह्ह अहह अहह ऊऊऊ आआआ… सी सी सी.. उई मई उई मई उई मई… करती हुई चुदने लगी | मैं उसके चिकने बूब्स को दोनों हाथ में पकड कर उसकी चूत में जोर जोर के धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए उसको चोद रहा था | मैं उसको ऐसे ही 12 – 14 मिनट तक मस्त ठुकाई करने के बाद

मेरे लंड ने माल उसके चूत के ऊपर निकाल दिया | फिर वो कपडे पहन कर चली गयी और मैं अपने कैंप में आ गया | फिर हम लोग वहां पर ऐसे ही रहे और उसके बाद हम लोग अपने कॉलेज चले आये |

ये थी मेरी कहानी | मुझे उम्मीद है आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी | कहानी पढने के लिए धन्यवाद् |

Leave a comment