जींस से झांकती वह बड़ी गांड । sex story । hindi sex stories

"If you'd like to submit a paid guest post or sponsor a post on our website, please contact us at

4/5 - (4 votes)

Jeans se khaankti wah badi gaand Sex Story : मेरा नाम रोहन है मैं भोपाल का रहने वाला हूं।

Build Your Dream Website Join Now
अपनी वेबसाइट बनाए Join Now

मेरी उम्र 24 वर्ष है। मैं कॉलेज से पोस्ट ग्रेजुएशन कर रहा हूं यह मेरा प्रथम वर्ष है। मेरे पिताजी बैंक में मैनेजर हैं और वह बड़े ही सख्त मिजाज के हैं।

वह मुझे हमेशा समझाते हैं बेटा तुम भी जल्दी से कोई नौकरी कर लो। मैंने उन्हें कहा पिताजी मुझे थोड़ा तो समय दीजिए आप तो हमेशा ही मेरे पीछे पड़े रहते हैं। मेरी मां कहने लगी हां रोहन बिल्कुल सही कह रहा है।

आप तो हमेशा ही उसके पीछे पड़े रहते हैं उसे भी तो थोड़ा मौका दीजिए तभी तो वह कुछ कर पाएगा।

मैं एक दिन शाम के वक्त अपने घर के बाहर दोस्तों के साथ बैठा हुआ था हम लोगों को बाइक चलाने का बड़ा शौक है और हम सब लोग शाम के वक्त मेरे दोस्त प्रकाश की दुकान के आगे मिलते हैं।

शाम को प्रकाश ही अपने पिताजी का काम संभालता है उनकी एक दुकान है लेकिन उस दुकान में ज्यादातर हम लड़के लोग ही बैठे रहते हैं। वहीं बैठ कर हम लोग सिगरेट भी पीते हैं और खूब हंसी मजाक करते हैं।

एक शाम हम लोग साथ में बैठे हुए थे मैंने प्रकाश से कहा कि दोस्त कहीं घूमने चलते हैं। वह कहने लगा कि मेरे पास तो पैसे नहीं है मैं तुम्हारे साथ नहीं आ पाऊंगा।

बिस्तर पर प्यार का इजहार । Hindi chudai story । Desi Chudai Story

मेरे और दोस्त भी कहने लगे कि हमारे पास भी पैसे की किल्लत है तुम्हें तो पता ही है कि घर से जैसे कैसे तो हमें बाइक में तेल डालने के पैसे मिलते हैं और हम लोग घूमने के बारे में तो सोच भी नहीं सकते।

सब लोगों के नजरे मुझ पर टिकी हुई थी और मैं समझ गया कि यह लोग मुझसे क्या कहना चाहते हैं। वह लोग मुझसे यह उम्मीद कर के बैठे थे कि मैं ही उनके घूमने का बंदोबस्त करूं।

मैंने भी उन्हें निराश नहीं किया और कहा कि ठीक है मैं तुम्हारे घूमने का प्रबंध कर देता हूं। मैंने भी अपना दिमाग दौड़ाया और अपने मामा को फोन कर दिया।

मेरे मामा एक बड़े पद पर हैं और वह मेरी किसी बात को मना नहीं करते। उनकी उम्र 45 वर्ष हो चुकी है लेकिन उन्होंने अभी तक शादी नहीं की और शायद अब वह शादी करना भी नहीं चाहते।

मैंने जब अपने मामा को फोन किया तो मैंने उनसे कहा कि मुझे पैसों की आवश्यकता है। वह कहने लगे ठीक है तुम कल मेरे पास आ जाना जितने पैसे तुम्हें चाहिए उतना तुम लेकर चले जाना।

चुदासी चूत को मिला बूढ़ा लंड । xxx story । sex stories in hindi

मैंने अपने दोस्तों से कहा कि घूमने का तो बंदोबस्त हो गया पर तुम लोग अपने घर में तो पूछ लोगे। वह लोग कहने लगे कि ठीक है हम लोग अपने घर में बात कर लेंगे और फिर हम लोग वहां से अपने अपने घर चले गए।

कुछ दिनों बाद हम लोग घूमने के लिए माउंट आबू चले गए। जब हम लोग माउंट आबू पहुंचे तो वहां का मंजर बड़ा ही अच्छा था और मैंने सारी कुछ बुकिंग पहले ही करवा दी थी। मैं जिस होटल में रुका था

उस होटल का मैनेजर तो बड़ा ही मजाकिया किस्म का था उससे मेरी अच्छी बातचीत हो गई और मेरे दोस्त भी उसके साथ काफी देर तक बात करते रहे। वह बड़ा ही फ्रेंडली था और हमें कहने लगा कि तुम्हें कुछ भी आवश्यकता हो तो तुम मुझे तुरंत फोन कर देना। उसने मुझे अपना नंबर भी दे दिया था।

मैंने प्रकाश से कहा कि पहले तो हम लोग कुछ खा लेते हैं। वह कहने लगा ठीक है हम लोग कुछ खाने का आर्डर कर लेते हैं। हम लोगों ने होटल से ही खाने का आर्डर करवा दिया।

करीब एक घंटे बाद होटल से एक कर्मचारी हमारे लिए खाना ले आया। हम सब इतने ज्यादा भूखे थे कि हम लोग खाने पर ऐसे टूटे जैसे कि पता नहीं हमें क्या मिल गया हो। हम लोगों ने खाना खूब जमकर खा लिया और जब सबके पेट भर गए तो सब को नींद आने लगी। मैंने भी सोचा कि कुछ देर मैं भी सो जाता हूं।

मैं भी अपने मुंह में चादर ओढ़ कर सो गया। मेरी आंख इतनी ज्यादा गहरी लगी थी मैं जब उठा तो उस वक्त रात हो चुकी थी। मैंने अपने दोस्तों को उठाया वह सब भी बड़ी गहरी नींद में सो रहे थे। मैंने उन्हें कहा कि अरे भैया रात हो चुकी है तुम लोग कब तक सोते रहोगे लेकिन वह लोग उठने का नाम ही नहीं ले रहे थे।

प्रकाश उठ चुका था और वह कहने लगा कि यार नींद तो मुझे भी बहुत ज्यादा आ रही है लेकिन तुमने अब उठा दिया है तो हम लोग कहीं बाहर चलते हैं। मैंने अपने और दोस्तों को कहा कि तुम लोग सोए रहो

हम लोग तो जा रहे हैं। प्रकाश और मैं बाहर टहलते हुए निकल पड़े। जैसे ही हम लोग होटल से बाहर निकल रहे थे तो उस वक्त मुझे मैनेजर भी मिल गए। मैनेजर कहने लगे कि लगता है आप लोग काफी थके हुए हैं।

मैंने उन्हें कहा कि आपको कैसे पता। वह कहने लगा कि जब दोपहर के वक्त आप लोगों ने खाना खाया था उसके बाद हमारा लड़का आपके रूम में प्लेट लेने आया था लेकिन आप लोग तो उठे ही नहीं।

मैंने मैनेजर से कहा कि हां सब की आंख लग गई थी इसलिए हो सकता है किसी ने दरवाजा नही खोला होगा। वह कहने लगे कि वह लड़का तो काफी देर तक बैल बजा रहा था लेकिन आपने दरवाजा नहीं खोला और उसके बाद हम दोनों भी वहां से चले गए।

जब हम लोग टहल रहे थे तो हमारे आगे एक परिवार चल रहा था उसमें एक लड़की भी चल रही थी उसने बड़ी ही टाइट जींस पहनी हुई थी उसकी गांड का पूरा शेप बाहर की तरफ झाक रहा था।

मैंने प्रकाश से कहा यह देखो कितनी माल लड़की है। वह कहने लगा उसकी गांड तो कितनी जबरदस्त है मुझे इसकी गांड मिल जाए तो मैं इसकी गांड मार दूं। शायद उसने हम दोनों की बात सुन ली। जब उसने पीछे पलट कर देखा तो उसकी आंखों में मुझे हवस दिखाई दे रही थी हम लोग भी उसके पीछे पीछे चलने लगे।

जब वह कुछ आगे गई तो उसने अपने हाथ से एक पेपर नीचे गिरा दिया। मैंने जब वह पेपर उठाकर देखा तो उसमें उसका नंबर था मुझे तो ऐसा लगा जैसे मेरी लॉटरी लग गई। मैंने तुरंत ही उसे फोन कर दिया उसने अपने होटल का एड्रेस दिया और कहने लगी तुम आ जाना।

मैं प्रकाश को अपने साथ ले गया हम दोनों ही उसके रूम में चले गए। हम दोनों उसके रूम में गए तो उसे देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया मैंने उसे कहा तुम्हारे साथ और लोग कहां है। वह कहने लगी वह सब लोग अभी कहीं गए हुए हैं। मैंने उसे देखते ही चूमना शुरू कर दिया और उसके होठों का रसपान करने लगा।

मैंने जैसे ही उसके कपड़े उतारे तो उसके स्तन इतने ज्यादा गोरी थे। मैं उन्हें देखकर अपने आप पर काबू नहीं रख पाया मैंने उन्हें चूसना शुरु कर दिया। मैंने उसके स्तनों पर अपने होंठो को लगाया तो मैं पूरे तरीके से उत्तेजित हो गया मुझे उसके साथ अच्छा लग रहा था।

मैंने उसकी योनि के अंदर अपने लंड को डांल दिया और मैंने उसके साथ करीब 5 मिनट तक संभोग किया। जब मेरा वीर्य पतन 5 मिनट बाद गिरा तो मैंने उसकी गांड के अंदर अपने लंड को डाल दिया। वह गांड के अंदर बाहर अपने लंड को करने लगा। वह मुझे कहती मुझे अपनी गांड मारवाने में बड़ा मजा आ रहा था।

जब मै उसकी गांड मार रहा था तो वह अपने मुंह से सिसकियां निकालने लगी। प्रकाश खड़ा हो गया और उसने अपने लंड को बाहर निकालते हुए उस लड़की के मुंह में डाल दिया। वह उसके लंड को बडे अच्छे से चूस रही थी। मैं उसे इतनी तेज गति से धक्के मारता उसने प्रकाश के लंड को अपने गले तक ले रखा था।

मैंने अपने लंड को उसके गांड के अंदर डाला हुआ था उसे कुछ भी फर्क नहीं पड़ रहा था। मैंने उसकी चूतड़ों को पकड़ा और बड़ी तेज गति से उसे चोदना शुरू कर दिया। कुछ मिनट बाद ही मेरा वीर्य पतन उसकी गांड के अंदर हो गया और जब मैंने अपने लंड को निकाला तो प्रकाश भी मूड में हो चुका था।

प्रकाश ने उसकी गांड में लंड घुसा दिया जैसे ही उसका लंड गांड के अंदर घुसा तो वह उसे तेजी से धक्के मार रहा था। मैं सोफे पर बैठ कर यह सब देख रहा था मुझे ऐसा लगता जैसे कि कोई पोर्न मूवी चल रही हो।

उसने उसकी गांड अच्छे से मारी वह बड़ी तेज आवाज में चिल्लाने लगी। मुझे यह डर भी लग रहा था कहीं कोई आ ना जाए लेकिन वह तो शुक्र है कि कोई भी नहीं आया और वह बड़ी तेज गति से उसकी गांड मारता रहा है। जब प्रकाश का वीर्य पतन हुआ तो हम दोनों ने जल्दी से अपने कपड़े पहने और अपने होटल चले गए।

1 thought on “जींस से झांकती वह बड़ी गांड । sex story । hindi sex stories”

Leave a comment